बांग्लादेश: मुस्लिम भीड़ ने फेसबुक पोस्ट करने पर की हिंसा, मंदिर, दुकान समेत कई घरों में की तोड़फोड़

बांग्लादेश में, मुस्लिम भीड़ ने लोहागरा, नरैल के सहपारा इलाके में एक मंदिर, एक किराने की दुकान और हिंदू समुदाय के कई घरों में तोड़फोड़ की. पुलिस के अनुसार 18 वर्षीय लड़के के फेसबुक पोस्ट की वजह से मुस्लिम भीड़ ने शुक्रवार (15 जुलाई) को जुम्मा की नमाज के बाद तोड़फोड़ की जिससे भगदड़ मच गई. उन्होंने आरोप लगाया कि 18 साल के एक हिंदू लड़के ने फेसबुक पर एक पोस्ट किया जिससे उनकी धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची.

मंदिर परिसर में तोड़े फर्नीचर

भीड़ ने पहले तो पथराव किया जिसके बाद वे सहपारा मंदिर में घुस गए और परिसर के अंदर रखे फर्नीचर को तोड़ दिया. उन्होंने लड़के के पिता से संबंधित एक किराने की दुकान पर हमला किया और तोड़फोड़ की. इसके बाद गुस्साई मुस्लिम भीड़ ने हिंदू लड़के के घर और आसपास के कई अन्य लोगों के घर में तोड़फोड़ की. बांग्लादेशी पुलिस को स्थिति पर काबू पाने में देर रात तक का समय लगा, उन्होंने गुस्साई भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे.

अधिकारियों ने कही ये बात

खबरों के मुताबिक, अभी तक किसी भी हमलावर के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया गया है और न ही इस्मालिस्टों के खिलाफ किसी तरह की कार्रवाई की गई है. घटना के बारे में बताते हुए, नरैल के पुलिस अधीक्षक प्रबीर कुमार रॉय ने कहा, “हम घटना की जांच कर रहे हैं. हिंसा के लिए जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई होगी. फिलहाल स्थिति सामान्य है.”

पहले भी हो चुके हैं हमले

मुस्लिम बाहुल्य बांग्लादेश में धार्मिक अल्पसंख्यकों पर हमले तेजी से हो रहे हैं, और उनमें से कई सोशल मीडिया के माध्यम से फैली अफवाहों या फर्जी पोस्ट के बाद हुए हैं. Legal rights group Ain O Salish Kendra की एक रिपोर्ट के अनुसार, जनवरी 2013 से सितंबर 2021 के बीच बांग्लादेश में हिंदू समुदाय पर 3679 हमले किए गए.