बारिश के मौसम में ऐसे करें अपने स्किन की केयर, त्वचा को बनायें ग्लोइंग और बेदाग

मौसम का बदलाव आपकी त्वचा को आपकी सोच से ज्यादा प्रभावित करता है. भीषण गर्मी के बाद जब मानसून आता है तब सब पहली बारिश में भींगकर मजा लेना चाहते हैं. बारिश होने के कारण नमी बढ़ जाता है जो हमारी त्वचा पर भी गहरा प्रभाव डालता है. इस मौसम में त्वचा सम्बंधी रोग, संक्रमण और जलन आदि का खतरा कई गुना बढ़ जाता है. यही कारण है कि मौसम बदलने के साथ ही हमें अपनी स्किन की भी देखभाल करनी पड़ती है. आइये जानते हैं कि मानसून के इस मौसम में आप अपनी त्वचा को स्वस्थ और सुंदर कैसे रख सकते हैं-

मानसून में ऐसे करें स्किन केयर

बारिश में भीगने पर जब भी आपका चेहरा गीला हो तो सबसे पहले उसे किसी साफ कॉटन या टीशू पेपर से साफ करें. अगर रूखापन महसूस हो तो उसे मॉश्चराइजर लगा लें. चेहरे पर एक दिन में लगभग दो बार चेहरे पर आइस क्यूब रगड़ें. पैरों पर भी इसका असर ज्यादा देखने के मिलता है. इसलिए ये उपाय पैरों के लिए भी करें. ऐसा करने से चेहरे पर पसीना नहीं आता और नमीं की वजह से पिंपल्स नहीं आते. चेहरे को चमकदार और चिकना बनाए रखने के लिए यह जरूरी है कि त्वचा की सतह पर अत्यधिक तेल न रहे.

हरी सब्जियों का करें सेवन

इस मौसम में बीमारियों का भी खतरा अधिक हो जाता है. क्योंकि ऐसे में संक्रमण तेजी से बढ़ जाता है. इन दिनों हमें अपने खाने पर भी विशेष ध्यान देना चाहिए. बरसात के दिनों में हमने देखा है कि हरी सब्जियों में कीड़े लग जाते हैं जो सब्जियों को खराब कर देते हैं. इसलिए हमेशा सब्जियों को अच्छी तरह साफ-सुथरा करके पकाएं. बल्कि ऐसे में हरी सब्जियां खाने से बचें. इन दिनों मसालेदार भोजन से बचना चाहिए. इस मौसम में फलों का सेवन अच्छा विकल्प है. इसलिए हमें फलों को ही प्राथमिकता देनी चाहिए. इन दिनों तीन रंगों के फलों को ज्यादातर खाएं क्योंकि इसमें शामिल पौष्टिक और एंटीऑक्सीडेंट तत्व न केवल शरीर में ऊर्जा संतुलन के लिए महत्वपूर्ण हैं, बल्कि शरीर से विषाक्त पदार्थो को बाहर निकालकर हमारा संक्रमण से बचाव भी करते हैं. साथ ही हमारी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाते हैं.

आँखों को करें ऐसे प्रोटेक्ट

गर्मियों के बाद मानसून आने के साथ-साथ आंखों में भी कई तरह की परेशानियां बढ़ जाती है. यह मौसम सर्द-गर्म वाला होता है इसलिए आंखों में जलन की समस्या और खुजली बढ़ जाती है. इस दौरान हमारी आखें वाइरल संक्रमण का शिकार हो जाती है. कंजक्टिवाइटिस बरसात के दिनों में महामारी की तरह फैलता है. यह वाइरस, बैक्टिरिया और संक्रमण की वजह से होता है. यह ऐसा संक्रमण है जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में तेजी से फैलता है. इसके शिकार सबसे ज्यादा बच्चे होते हैं. इस दौरान हमें इससे बचने के लिए अपनी आखों का पूरा खयाल रखना चाहिए. इससे बचने के लिए किसी भी संक्रमित व्यक्ति से हाथ ना मिलाएं और उनकी चीजों जैसे चश्मा, तौलिया, तकिया आदि से दूरी बनाए रखें. किसी दूसरे व्यक्ति का रूमाल तौलिये का इस्तेमाल ना करें. घर से बाहर निकलने पर धूप का चश्मा जरूर पहनना चाहिए.