Health Update: Vitamin B12 की कमी से होते हैं ये रोग, कहीं आप भी इसके शिकार तो नहीं !

यदि हाथ-पैरों में सुन्नता के साथ मानसिक कमजोरी और याददाश्त में कमी की शिकायत है तो एक बार विटामिन बी12 की जांच जरूर कराएं। यह एक ऐसा पोषक तत्व है जो नर्व सेल्स और रक्त कोशिकाओं को स्वस्थ रखने में मदद करता है। इसकी कमी लोगों को शारीरिक, मानसिक और मनोवैज्ञानिक रूप से प्रभावित करती है। लगभग 47% उत्तर भारतीयों में इसकी कमी पाई गई है।

कमी के कारण

शरीर विटामिन बी12 का निर्माण नहीं करता। जरूरत को पूरा करने के लिए बी12 युक्त पदार्थों का सेवन करना पड़ता है। यह मुख्य रूप से डेयरी प्रोडक्ट, अंडा और मीट में पाया जाता है। फोर्टीफाइड ब्रेड, न्यूट्रिशनल यीस्ट आदि में भी यह मिलता है। पाचन संबंधी समस्या रहनेे पर भी इसकी कमी होती है।

शरीर पर असर

ब्रेन फॉग: विटामिन बी12 ऐसे एजेंट को पैदा करता है जिनका उपयोग दिमाग न्यूरोट्रान्समीटर के रूप में करता है। ऐसे में इसकी कमी से कंफ्यूजन, याददाश्त से जुड़ी समस्याएं, अवसाद और डिमेंशिया का खतरा बढ़ता है।

कमजोरी और थकान : इसकी कमी से शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं का बनना कम हो जाता है। चूंकि ऑक्सीजन को लाल रक्त कोशिकाएं ही टिशू और अंगों तक ले जाती हैं, ऐसे में शरीर में ऑक्सीजन की भी कमी हो जाती है, जिससे शरीर में थकान और कमजोरी होने लगती है।