Health Update: बदलते मौसम में बच्चों को सर्दी जुकाम से बचाता है जायफल, जानिए इसके फायदे

वायरल फीवर का मौसम चल रहा है. हर घर में कोई न कोई सदस्य बीमार पड़ा हुआ है. ऐसे में बच्चों की सेहत का ध्यान रखना पेरेंट्स के लिए काफी मुश्किल हो चला है. बदलते मौसम में बच्चों को सर्दी जुकाम की शिकायत हो रही है. आज हम आपको इससे निपटने के लिए कुछ घरेलु नुस्खे बताने जा रहे, जो बच्चों के लिए सर्दी जुकाम में बेहद कारगर है.

बच्चों को सर्दी जुकाम होने पर दादी-नानी जायफल खिलाने की सलाह देती हैं. इससे अपच, मुंह के छाले और पेट की समस्याएं दूर होती हैं. खाने में इस्तेमाल होने वाला जायफल एक मसाला है, जो स्वाद और सुंगध से भरपूर होता है. कई नुस्खों में भी जायफल का इस्तेमाल किया जाता है. 

जायफल एंटीबैक्टीरियल और एंटीबायोटिक गुणों से भरपूर होता है. इसे खाने से सीजनल बीमारियां दूर रहती हैं. कुछ लोग जायफल को सीधे कूट कर या फिर गर्म मसाले के तौर पर खाने में इस्तेमाल करते हैं. आइये जानते हैं बच्चे को किस तरह से खिलाएं जायफल और शिशु के लिए जायफल के फायदे क्या हैं?

जायफल के फायदे

जुकाम खांसी दूर करे 

बच्चों की इम्यूनिटी बहुत कमजोर होती है. ऐसे में उन्हें सर्दी जुकाम सबसे ज्यादा परेशान करता है. बच्चे को सर्दी होने पर जायफल खिलाने से राहत मिलती है. जायफल में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जो सीजनल इंफेक्शन को दूर करते हैं. ये तासीर में गर्म होता है. इसे खाने से शरीर में गर्मी आती है. खांसी होने पर जायफल को पीसकर शहद में मिला कर बच्चे को चटाने से आराम मिलता है. रात में सोने से पहले बच्चे को जायफल खिलाएं. जायफल पीसकर घी में मिलाकर लगाने से कफ के कारण जड़कन नहीं होती.

अपच से राहत 

बच्चे और बड़े सभी को अपच की समस्या रहती है. अपच होने पर जायफल खाने से मदद मिलती है. बच्चे को अपच होने पर जायफल कूट कर घी या शहद में मिला कर नाभि पर लगाएं. बच्चे को शहद में मिलाकर जायफल खिलाने से पेट दर्द की समस्या भी दूर होती है. इससे मेटाबोलिज्म भी तेज बनता है.

मुंह के छाले में आराम 

बच्चों को मुंह में छाले होने पर खाने-पीने में बहुत मुश्किल होती है. छोले की समस्या दूर करने के लिए आप बच्चे को जायफल खिला सकते हैं. इसके लिए जायफल और मिश्री को मिला खिलाएं. इससे पेट को ठंडक मिलेगी और मुंह के छाले दूर हो जाएंगे. बच्चे को जौ के पानी में मिश्री और जायफल पाउडर मिला कर देने पर भी राहत मिलती है.

कान के दर्द में आराम 

बच्चों को कान में दर्द होने पर जायफल खिला सकते हैं. जायफल में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जिससे कान के दर्द और सूजन में आराम मिलता है. इसके एंटी बैक्टीरियल गुण से कान की गंदगी साफ हो जाती है. जायफल को पीस लें और लेप बना कर कान के पीछे लगा दें. इसस कान का दर्द और सूजन कम हो जाएगी. आप चाहें तो सहसों के तेल में जायफल मिलाकर बच्चे का कान में डाल सकते हैं.

भूख बढ़ाए 

बच्चे को दूध में जायफल मिलाकर खिलाने से भूख बढ़ती है. इससे बच्चे की इम्यूनिटी मजबूत होती है. जायफल खाने से मेटाबोलिज्म तेज होता है और डाइजेशन में भी सुधार आता है. बच्चे की भूख बढ़ाने के लिए जायफल खिलाएं.