Jammu Kashmir: पुलवामा में टारगेट किलिंग, आतंकियों ने हिन्दू बैंक सुरक्षा गार्ड की गोली मारकर की हत्या

by Admin
0 comment
jammu-kashmir-target-killing

Jammu Kashmir: जम्मू-कश्मीर (J & K) में टारगेट किलिंग हिन्दुओं के लिए एक कांटे जैसा हो गया है। एक कदम आगे बढ़ते ही ये चुभने लगता है। इसी टारगेट किलिंग को अंजाम देते हुए पुलवामा में रविवार को आतंकियों ने एक कश्मीरी पंडित की गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक की पहचान अचन गांव के काशी नाथ पंडित के बेटे संजय पंडित के रूप में हुई है। पुलिस ने कहा कि उसे अस्पताल ले जाया गया, लेकिन गंभीर चोट के कारण उसकी मौत हो गई। मृतक व्यक्ति बैंक सुरक्षा गार्ड के रूप में काम कर रहा था।

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में रविवार को आतंकवादियों ने कश्मीरी पंडित समुदाय के एक व्यक्ति को गोली मार दी। पुलिस ने कहा कि मृतक की पहचान दक्षिण कश्मीर के अचन इलाके के संजय शर्मा (40वर्ष) के रूप में हुई है। यह घटना सुबह 11 बजे हुई।

अस्पताल क्ले जाते समय रास्ते में तोड़ा दम

कश्मीर जोन पुलिस ने ट्विटर पर लिखा कि आतंकवादियों ने स्थानीय बाजार जाते समय संजय शर्मा पुत्र काशी नाथ शर्मा पर गोलीबारी की। उन्होंने कहा कि शर्मा को अस्पताल ले जाया गया लेकिन उन्होंने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। पुलिस ने कहा कि इलाके की घेराबंदी कर दी गई है। आगे की जानकारी दी जाएगी।

Advertisement

उमर अब्दुल्ला ने की हमले की निंदा

वहीं इस मामले पर नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा कि दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के अचन के संजय पंडित के निधन की खबर सुनकर गहरा दुख हुआ। संजय एक बैंक सुरक्षा गार्ड के रूप में काम कर रहा था और आज सुबह एक आतंकवादी हमले में मारा गया। मैं स्पष्ट रूप से इस हमले की निंदा करता हूं और उनके प्रियजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।

इस मामले में डीआईजी रईस मोहम्मद भट ने कहा कि घटना सुबह करीब 10:30 बजे की है। अल्पसंख्यक समुदाय के एक नागरिक पर आतंकवादियों ने उस समय गोली चलाई जब वह अपनी पत्नी के साथ बाजार जा रहा था। हम आतंकवादी की तलाश कर रहे हैं और हम उन्हें जल्द से जल्द पकड़ लेंगे।

Also Read:

Pakistan की फरेबी हरकत आई सामने, Turkey ने जो मदद पिछले साल Pak को भेजी, वही सामग्री Turkey को लौटाई

Prayagraj Shootout: संजीवनी बनने से पहले ही थम गई थी, शहीद गनर संदीप निषाद की सांसें

पहले भी हो चुके हैं हमले

बता दें कि यह पहला मौका नहीं है, जब हिन्दुओं पर कश्मीर में हमले हुए हैं. इससे पहले भी हिन्दुओं पर अक्सर हमले होते रहते हैं. कश्मीर के अल्पसंख्यक हिन्दुओं को अक्सर आतंकी अपनी गोली का निशाना बनाते हैं. अभी कुछ दिनों पहले ही आतंकियों ने हिन्दुओं का आधार कार्ड देखकर उन्हें मारा था. जिसके बाद भारतीय सेना ने उसका बदला लिया था.

You may also like

Leave a Comment

cropped-tffi-png-1.png

Copyright by The Front Face India 2023. All rights reserved.