“हिन्दू धर्म का अपमान क्यों और कब तक?” फिल्ममेकर लीना पर भड़के अरुण गोविल, अशोक पंडित ने मानसिक बीमार करार दिया

फिल्ममेकर लीना मणिमेकलाई की हिन्दू घृणा से जुडी हरकतें थमने का नाम नहीं ले रही हैं. बीते 2 जुलाई को ‘काली’ का पोस्टर ट्विटर पर  रिलीज किया था. इसमें ‘काली’ बनी एक्ट्रेस को सिगरेट पीते दिखाया गया था. साथ ही एक हाथ में त्रिशूल और दूसरे हाथ में LGBT का झंडा था. इस पोस्ट पर मचे बवाल के बाद भी लीना ने माफ़ी मांगने से इंकार कर दिया. अब उसने  भगवान शिव और माता पार्वती के धूम्रपान करने वाली तस्वीरों को पोस्ट किया है.

इस पर टीवी जगत के भगवान राम (एक्टर अरुण गोविल) ने इसे हिन्दू धर्म का घोर अपमान करार दिया है. अरुण ने ट्वीट करते हुए लीना की हिन्दू भावनाओं को आहत करने वाली इस पोस्ट की कड़ी आलोचना की है. ट्वीट में उन्होंने कहा, “माँ काली का अपमान हिंदू धर्म का घोर अपमान है, करोड़ों हिंदुओं की आस्था पर सीधा प्रहार है. फिल्मों और विज्ञापनों में हिन्दू देवी देवताओं का अपमान प्रचलन बन गया है. बार बार हिंदू धर्म का अपमान आखिर क्यों और कब तक ? ऐसे जघन्य अपराध तत्काल बंद होने चाहिए.”

अभिनेता अनुपम खेर ने भी माँ काली के अपमान की ट्वीट कर निंदा की है. उन्होंने कहा, “शिमला में माँ काली का एक बहुत ही प्रसिद्ध मंदिर है, कालीबाड़ी. बचपन में कई बार जाता था. बूँदी के प्रसाद और मीठे चरणामृत के लिए. मंदिर के बाहर एक साधु/फक़ीर टाइप बार बार दोहराता था…’जय माँ कलकत्ते वाली…तेरा श्राप ना जाए खाली..’ आजकल उस साधु और मंदिर की बहुत याद आ रही है!”

इसी क्रम में फिल्म निर्माता अशोक पंडित ने लीना के इस पोस्ट की आलोचना करते हुए उसे मानसिक बीमार की संज्ञा दी है. उन्होंने कहा, “अब ये साबित हो गया है कि तुम्हें मेंटल अस्पताल में भर्ती होने से पहले तत्काल इलाज की जरूरत है. कृपया जल्द से जल्द किसी मनोचिकित्सक से सलाह लें.”