काजल राघवानी ने बताई भोजपुरी इंडस्ट्री की काली सच्चाई, भोजपुरी कलाकार पाण्डेय, यादव और सिंह पर किया वार

काजल राघवानी भोजपुरी इंडस्ट्री की मोस्ट सक्सेसफुल एक्ट्रेसेज में से एक हैं। इन दिनों भोजपुरी इंडस्ट्री के सितारों के मध्य विवादों का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है, और इसी विषय पर एक्ट्रेस काजल राघवानी ने भी अपना मुंह खोला है। दरअसल पिछले दिनों पवन सिंह और अक्षरा सिंह के रिश्‍तों पर सिने जगत के कुछ नामचीन लोगों के बीच हो रही फूहड़ बातचीत सुनी गई थी। फिर भोजपुरी स्टार खेसारी लाल के फैन्स द्वारा बक्सर के एक नवोदित गायक की पिटाई का वीडियो सामने आया था। जहाँ एक ओर इन विवादों से भोजपुरी के बड़े स्टार्स के भेद खुलते जा रहे हैं वहीं दूसरी ओर एक्ट्रेस काजल राघवानी ने भी इस संबंध में हैरान कर देने वाली प्रतिक्रिया दी है।

भोजपुरी सिनेमा में है पुरुषों का वर्चस्व

भोजपुरी एक्ट्रेस काजल राघवानी ने भोजपुरी इंडस्ट्री की गंदी सच्चाई बताते हुए कहा कि यह इंडस्ट्री जातिगत गुटों में बंटी हुई है और इसका खामियाजा सबसे अधिक एक्ट्रेसेज को भुगतना पड़ता है। इस दौरान उन्होंने बताया कि भोजपुरी सिनेमा सिंह, पाण्डेय और यादव के खेमों में बुरी तरह बंटी हुई है। अगर कोई अभिनेत्री सिंह के साथ काम कर लेती है तो उसे यादव और पांडेय के साथ काम नहीं मिलता है। इसी तरह अगर कोई अभिनेत्री यादव या पांडेय के साथ काम कर लेती है तो उसे दूसरे एक्‍टर के साथ काम करने का मौका नहीं दिया जाता। वह बताती हैं कि भोजपुरी सिनेमा में पूरी तरह से पुरुषों का वर्चस्व है। भोजपुरी फिल्‍मों के अभिनेता और प्रोड्यूसर्स अभिनेत्रियों के साथ गलत बर्ताव करते हैं। भोजपुरी फिल्‍म इंडस्‍ट्री में मेल सुपरस्‍टार ज्‍यादातर भोजपुरी भाषी क्षेत्र के नामचीन गायक हैं, जिन्‍होंने गानों के जरिए ही इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाई और बाद में उन्हें फिल्में भी मिलने लगीं। इसके विपरीत भोजपुरी की ज्‍यादातर एक्ट्रेसेज भोजपुरी भाषी इलाके से बाहर की हैं। ऐसे में उन्‍हें फिल्‍मों में काम हासिल करने के लिए मेल स्‍टार की हर मांग पूरी करनी पड़ती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.