Darr 1993: विलेन का रोल पहले कई एक्टर्स ने किया रिजेक्ट, जानिए कैसे शाहरुख को मिला यह रोल

1993 में रिलीज़ डर फ़िल्म याद है? अरे वही, जिसमें शाहरुख खान क क क… किरण… कहते हुए एक खतरनाक विलन के तौर पर दिखाई पड़ते हैं। यह फ़िल्म शाहरुख खान के जीवन की यह एक माइलस्टोन फ़िल्म बताई जाती है। जिसके बाद शाहरुख को एक के बाद एक बड़े ऑफर मिलने शुरू हो गए थे।
बात करते हैं यश चोपड़ा के उस फिल्म की, जिसने शाहरुख खान को स्टार से सुपरस्टार बना दिया। शायद आपको यह बात पता ही नहीं होगी कि इस फ़िल्म को शाहरुख से पहले कई स्टार्स ने रिजेक्ट कर दिया था। यश चोपड़ा निर्देशित यह फ़िल्म एक हॉलीवुड फिल्म का रिमेक थी। आइए जानते हैं फ़िल्म से जुड़ी एक दास्तां


जूही चावला इस फ़िल्म के लिए सेलेक्ट हो चुकी थीं। यश को अब तलाश थी, फ़िल्म के लीड और नेगेटिव कैरेक्टर्स की, जो जूही के लिए अपना प्यार लूटा सकें। यश ने फ़िल्म की स्टोरी सनी देओल को सुनाई और उन्होंने उनसे दो में से एक कैरेक्टर को चुनने को कहा। सनी ने लीड कैरेक्टर को अपने लिए सेलेक्ट किया। अब यश को तलाश थी फ़िल्म के नेगेटिव कैरेक्टर की।


फ़िल्म के लिए यश चोपड़ा की पहली पसंद संजय दत्त थे। लेकिन संजय उन दिनों अवैध हथियार मामले में जेल में बंद थे। इसके बाद यश ने आमिर खान से बात की। लेकिन आमिर को स्क्रिप्ट पसंद नहीं आई। इसके बाद यश चोपड़ा ने अजय देवगन से बात किया। अजय उस समय के उभरते और व्यस्ततम सितारों में से एक थे। अजय को स्क्रिप्ट तो पसन्द आई लेकिन उनके पास डेट्स की कमी थी। जिसके बाद यश के पास नाम आया सुरेश बेदी का। सुरेश भी अजय देवगन की तरह उभरते हुए सितारों में से एक थे। लेकिन बात वहां भी नहीं बनी।
आखिरकार यश चोपड़ा ने इसके लिए बात की शाहरुख खान से। शाहरुख उन दिनों बाज़ीगर फ़िल्म की शूटिंग में व्यस्त थे। उसमें भी शाहरुख के रोल में नेगेटिविटी ज्यादा थी। पहले तो शाहरुख एक और नेगेटिव रोल करने में हिचिकिचा रहे थे। लेकिन शाहरुख को यश जैसे बड़े डायरेक्टर को फ़िल्म के लिए मना करना आसान नहीं था। शाहरुख फ़िल्म के लिए राजी हो गए। अंततः फ़िल्म सुपरहिट हुई। फ़िल्म के लिए शाहरुख को कई अवार्ड्स भी मिले। लेकिन इसमें सबसे बड़ी बात यह रही कि बतौर नेगेटिव वे फ़िल्म के हीरो पर भारी रहे।