चैत्र नवरात्र: 2 अप्रैल से नवरात्र शुरू, घोड़े पर सवार होकर आएंगी मां, बन रहा ऐसा संयोग

इस बार चैत्र नवरात्र 2 से 10 अप्रैल तक तक रहेंगे. इसमें माता के 9 स्वरूपों की पूजा होती है. इस बार नवरात्र पूरे नौ दिन के होने से इसे शुभ व मंगलकारी होना माना गया है. खास बात यह है कि इन नौ दिनों में मां दुर्गा और काली की आराधना के चलते आठ दिन में कई अन्य पर्व व विशेष तिथियां ऐसी है, जिनमें गणगौर व गणेश आदि देवताओं की पूजा भी की जाएगी. इस बार मां दुर्गा घोड़े (अश्व) पर सवार होकर आएंगी. अश्व को सफलता, शक्ति और रफ्तार का प्रतीक माना जाता है. ज्योतिषियों का मत है कि मां दुर्गा की सवारी घोड़ा होने से इन नौ दिनों में व्रत रखकर साधना करने वाले साधकों के भीतर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा और उनके संकल्पों को भी बल मिलेगा.

दो साल बाद ऐसा संयोग

ज्योतिष पंडितों के अनुसार दो साल बाद एक बार फिर चैत्र नवरात्र का शुभारंभ शनिवार को होने जा रहा है. इससे पहले 6 अप्रैल 2019 में नवरात्र का शुभारंभ शनिवार को हुआ था. शनिवार के दिन किए गए कार्यों को स्थायित्व मिलता है. इस दिन जो संकल्प लेंगे अथवा नवीन कार्य शुरू होंगे, वे पूरे होंगे और लंबी अवधि तक लाभ देंगे.

मंदिरों में जलेंगे दीप

पिछले साल कोरोनाकाल में चैत्र नवरात्र पर लोगों ने घरों में ही पूजा की थी. इस साल सभी बंदिशें हटने से लोगों में उत्साह है. मंदिरों में अखंड दीप जलने के साथ विशेष पूजा-हवन, जगराते, कन्या भोज व भंडारे भी होंगे. कई संस्थाएं कन्या पूजन व भोज के साथ जरूरतमंद बालिकाओं को नए वस्त्र और शिक्षण सामग्री बांटेंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *