Kal Bhairav Mandir: काशी के कोतवाल ने संभाली ड्यूटी, फुल वर्दी में आए नजर

वाराणसी.बाबा काल भैरव का शनिवार को कोतवाल स्वरूप में शृंगार किया गया. मूंछ के साथ ही खाकी वर्दी धारण करा कर कंधे पर तीन स्टार लगाया गया.हाथ में कलम और दंड तो सामने कागज और अलार्म वाली घंटी रख कर कोतवाल की तरह दरबार सजाया गया. साथ ही पीएम की सुरक्षा की गुहार लगाते हुए पंजाब में काफिला रोके जाने के मामले में कार्रवाई की अर्जी लगाई गई.

बता दे मंदिर प्रशासन ने शनिवार को पहली बार बाबा काल भैरव को कोतवाल स्वरुप में पुलिस की वर्दी पहनाकर शृंगार किया था.अनूठे शृंगार का श्रीगणेश भोर में बाबा को पंचामृत स्नान व विग्रह पर सिंदूर लेपन और नवीन वस्त्राभूषण धारण करा कर षोडशोपचार पूजन-आरती से की गई. शाम को विशेष शृंगार की भव्य झांकी सजाई गई.

महंत पं. शिव प्रसाद पांडेय ने बताया कि बाबा कालभैरव काशी के कोतवाल माने जाते हैं. काशी में उनकी इच्छा के बगैर कोई प्रवेश नहीं पाता. उनकी अनुमति के बाद ही देवाधिदेव महादेव के पास पूजन-अर्चन स्वीकार हो पाता है. बाबा का उनके असल कोतवाल स्वरूप में शृंगार कर प्रधानमंत्री की सुरक्षा और दीर्घायु की गुहार लगाई गई.

पंजाब में उनका काफिला रोके जाने का मामला भी जनसुनवाई के लिए काशी के कोतवाल बाबा काल भैरव के सामने रखा गया. बाबा से समस्त देशवासियों की कोरोना से रक्षा करने की भी कामना की गई. अनूठे शृंगार की झांकी दर्शन के लिए रात तक श्रद्धालु उमड़ते रहे.

वहीं बाबा के दरबार में पहुंची श्रद्धालु प्रगति सिंह ने बताया कि शृंगार के दिन बाबा का दर्शन कर मन प्रसन्न हो गया हैं.पहली बार बाबा को इस स्वरूप में देख कर प्रसन्न हूं,. हमने कोरोना के खत्म होने की बाबा काल भैरव से प्रार्थना की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.